भारत के 10 सबसे गरीब राज्य 2018

आज हम आपको भारत के 10 सबसे गरीब राज्य कौन सा है इसके बारे में बताने जा रहे हैं हम सभी जानते है कि इंडिया एक विकासशील देश है जिसके लगभग सभी स्टेट विकास की ओर अग्रसर हैं. देश में कई राज्य अमीर है तो कई राज्य गरीब हैं. अब आप जानना चाहते होंगे कि किसी राज्य के गरीब या अमीर होने के बारे में कैसे पता किया जाता है तो आपको बता दे कि देश के किसी स्टेट को उसकी जीडीपी के आधार में अमीर या गरीब घोषित कर सकते हैं जीडीपी का मतलब सकल घरेलु उत्पाद होता है इसका सीधा अर्थ यह होता है कि राज्य ने कितना उत्पादन किया है. जिस राज्य का उत्पादन ज्यादा होता है उसकी जीडीपी ज्यादा होती है जबकि कम उत्पादन करने वाले राज्य की जीडीपी कम होती है.
भारत के 10 सबसे गरीब राज्य 2018
भारत के 10 सबसे गरीब राज्य 2018
जीडीपी किसी राज्य की अर्थव्यवस्था को परिभाषित करता है इसमें राज्य में होने वाले उधोगो के द्वारा उत्पादन, व्यापार, सेवा, निर्यात आयात आदि आते हैं. जीडीपी के द्वारा राज्य की सालाना आय को तय किया जाता है. इससे पता चल जाता है कि देश पिछले साल के मुकाबले कितनी तरक्की की है. यदि इंडिया के सबसे अमीर राज्य की बात करे तो पहले स्थान पर महाराष्ट्र आता है. इस राज्य में भारत के दूसरे राज्यों की तुलना में ज्यादा व्यापार और उत्पादन होता है इस वजह से इसकी जीडीपी सबसे अधिक है.

भारत के 10 सबसे गरीब राज्य GDP के आधार पर

1 . अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह – GDP ₹6,649 करोड़
2. मिजोरम – GDP ₹17,613 करोड़
3. अरुणाचल प्रदेश – GDP ₹20,259 करोड़
4. मणिपुर – GDP ₹21,066 करोड़
5. नागालैंड – GDP ₹21,488 करोड़
6. सिक्किम – GDP ₹22,248 करोड़
7. मेघालय – GDP ₹27,228 करोड़
8. त्रिपुरा – GDP ₹34,368 करोड़
9. गोवा – GDP ₹70,400 करोड़
10. हिमाचल प्रदेश – GDP ₹1.52 लाख करोड़

भारत के 10 सबसे गरीब राज्य

1. छत्तीसगढ़ GDP ₹3.25 लाख करोड़ (50 बिलियन डॉलर)
यह राज्य साल 2000 से पहले मध्यप्रदेश का हिस्सा हुआ करता था लेकिन इसे बाद में अलग राज्य बना दिया गया अब यह राज्य भारत के सबसे गरीब स्टेट की सूची में आता है. एक आकड़े के मुताबिक छत्तीसगढ़ का 37% गरीब स्तर हैं हालाकि यह राज्य भारत में उत्पादित स्टील का 15% योगदान देता है फिर भी इस राज्य के अधिकतर लोग गरीब हैं.
2. झारखंड GDP ₹2.82 लाख करोड़ (43 बिलियन डॉलर)
यह राज्य पहले बिहार का हिस्सा हुआ करता था लेकिन साल 2000 में इसे भी अलग राज्य बना दिया गया था. इस राज्य में गरीबी का स्तर करीब 36.96% है. राज्य में साक्षरता, नामांकन, बच्चों में पोषण का औसत काफी कम है.
3. मणिपुर GDP ₹21,066 करोड़ (3.2 बिलियन डॉलर)
इस राज्य का गठन साल 1972 में किया गया था. पहाड़ो में बसा मणिपुर काफी खूबसूरत राज्य है लेकिन इस राज्य में काफी गरीबी भी है. इस राज्य का का गरीबी स्तर करीब 36.89% है. बिजली, सड़कों की कमी, संचार की कमी इस राज्य के विकास में बाधा बन रहा है.
4. अरुणाचल प्रदेश GDP ₹20,259 (3.0 बिलयन डॉलर)
इस राज्य को 1987 में बनाया गया था यह पूर्वोत्तर में बसा सबसे बड़ा राज्य है चुकीं यह राज्य पहाड़ो में बसा है इसलिए राज्य में सड़कों, संचार, बिजली की कमी है. इस राज्य की अर्थव्यवस्था ज्यादातर कृषि पर निर्भर है. इस राज्य का गरीबी स्तर करीब 34.67% है.
5. बिहार GDP ₹5.15 लाख करोड़ (80 बिलियन डॉलर)
बिहार में काफी बेरोजगारी है इस वजह से इस राज्य के लोग दूसरे राज्यों में काम करने जाते हैं. बिहार की आधी से अधिक आबादी गरीबी रेखा से नीचे जी रही है. यह राज्य भी कृषि प्रधान राज्य है और इस राज्य के ज्यादातर लोग कृषि से अपना जीवन यापन कर रहे हैं. इस राज्य का गरीबी स्तर 33.74% के आसपास है.
6. ओडिशा GDP ₹4.43 लाख करोड़ (70 बिलियन डॉलर)
इस राज्य में ज्यादातर लोग पिछड़े वर्ग और अनुसूचित जाति से आते हैं. राज्य में गरीबी का मुख्य कारण बेरोजगारी है. यहाँ की साक्षरता का औसत भी बहुत कम है. जिस वजह से 14 साल से कम उम्र के बच्चें भी काम करने को मजबूर हैं. इस राज्य का गरीबी स्तर 32.59% के आसपास है.
7. असम GDP ₹3.33 लाख करोड़ (51 बिलियन डॉलर)
यह भारत के पूर्वोत्तर में बसा एक गरीब राज्य है यह भारत के मुख्य उत्पादन केंद्र से काफी दूर है इस वजह से इस राज्य में बहुत कम प्रगति हो रही है. यहाँ का वातावरण और जलवायु परिस्थिति भी यहां की आर्थिक प्रगति में बाधा उत्पन्न कर रहा है. इस राज्य का गरीबी स्तर करीब 31.98% है.
8. मध्यप्रदेश GDP ₹8.26 लाख करोड़ (126 बिलियन डॉलर)
भारत के मध्य में बसा मध्यप्रदेश का गरीबी स्तर 31.65% है इस राज्य में सबसे ज्यादा अनुसूचित जनजाति यानि ST के लोग रहते हैं. यह राज्य आदिवासी लोगो के लिए भी जाना जाता है यहां के ज्यादातर लोग अजीविका के लिए वन सम्पदा पर आश्रित हैं.
9. उत्तरप्रदेश GDP ₹14.89 लाख करोड़ (230 बिलियन डॉलर)
यह इंडिया का सबसे बड़ा स्टेट होने के साथ एक गरीब राज्य भी है. उत्तरप्रदेश के लोग भी बिहार के लोगो की तरह रोजगार के लिए भारत के दूसरे राज्यों पर निर्भर हैं. हालाकि उत्तरप्रदेश ने पिछले सालों से कई गुना तरक्की की है फिर भी इसका नाम भारत के सबसे गरीब राज्य में आता है. इस राज्य का गरीबी स्तर 29.43% है.
10. कर्नाटक GDP ₹14.08 लाख करोड़ (217 बिलियन डॉलर)
भारत के दक्षिण में बसा कर्नाटक का नाम भी गरीब राज्यों में आता है. यहाँ के लोग भी बेरोजगारी की समस्या से जूझ रहे हैं. कर्नाटक के गरीब बच्चों में पोषण की कमी देखी जा सकती है. इस राज्य का गरीबी स्तर 20.91% के आसपास है.
सबसे ऊपर जीडीपी के आधार पर भारत के 10 सबसे गरीब राज्य के बारे में बताया गया है जिसमे सबसे पहला नाम अंडमान और निकोबार द्वीपसमूह का आता है इसकी जीडीपी ₹6,649 करोड़ के आसपास है. अगर जीडीपी के आधार पर देखा जाए तो यह सबसे गरीब स्टेट है जबकि राज्य में गरीबी स्तर को देखा जाए तो सबसे पहला नाम छत्तीसगढ़ का आता है हालाकि इसकी जीडीपी भी काफी अच्छी है लेकिन इस राज्य में काफी गरीब लोग रहते हैं.
तो अब आप भारत के 10 सबसे गरीब राज्य के बारे में जान गए होंगे यहाँ हमने आपको गरीब राज्यों के बारे में बताया है बहुत से लोग इस बारे में जानना चाहते थे इस वजह से हमने इस पोस्ट को लिखा है उम्मीद है आपको ये पोस्ट पसंद आया होगा. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे ताकि आपके दोस्त भी इस तरह की जानकारी से अवगत हो जाए.
Previous
Next Post »