Car Loan Kaise Lete Hai|पूरी जानकारी

Car Loan के बारे में पूरी जानकारी: कैसे कम कर सकते हैं अपनी कार लोन की EMI.

Car Loan Kaise Lete Hai|पूरी जानकारी
Car Loan Kaise Lete Hai|पूरी जानकारी
आप Car Loan की सोच रहे है, पर कार की कीमत अभी पहुँच से बाहर है| परेशान होने की ज़रुरत नहीं है, आपके पास कार लोन लेने का विकल्प है|आप कितना कार लोन ले सकते हैं? कार लोन की ब्याज कितनी होती है? कार लोन की अवधि कितनी होती है? क्या पुरानी कार के लिए भी लोन ले सकते है? कहाँ से मिलेगा लोन?आईये जानते हैं कार लोन के बारे में विस्तार से|

Car Loan क्या होता हैं?

कार लोन एक ऐसा लोन होता है जो की आप एक कार लेने के लिए लेते हैं| आपको नयी कार या पुरानी कार (second-hand car) लेने के लिए लोन मिल सकता है|
आपको कार को शोरूम से बाहर निकालने के लिए रजिस्ट्रेशन ड्यूटी और कुछ कर (tax) देने होते हैं, ex-showroom price में यह सब जोड़ कर on-road price निकाला जाता है|
कार के रजिस्ट्रेशन, इंश्योरेंस शुल्क और करों (taxes) के लिए आपको लोन नहीं मिलता|  एक बात और, रजिस्ट्रेशन ड्यूटी और कर हर प्रदेश (state) में अलग हो सकते हैं|



अमूमन, आपको कार के ex-showroom price के अनुसार लोन मिलता है, on-road price के अनुसार नहीं|पर कुछ बैंक आपको on-road price के अनुसार भी लोन मिलता है|
साथ ही लोन राशि आपकी लोन चुकाने की क्षमता पर भी निर्भर करेगी| आपकी मासिक आय और अन्य ऋण को भी बैंक ध्यान में रखेगा|

Car Loan कहाँ मिलता है?

सभी बैंक कार लोन देते हैं|
आप भारतीय स्टेट बैंक (SBI)ICICI बैंकHDFC बैंक या किसी और बैंक से भी कहीं से भी लोन ले सकते हैं|
साथ ही कई NBFC (Non-Banking Finance Company) भी कार लोन देती हैं|
आप महिंद्रा फाइनेंस (Mahindra Finance) जैसे कंपनी से भी लोन ले सकते हैं|
कार डीलर के भी बैंक या फाइनेंस कंपनी से tie-up होता है| आप कार डीलर के यहाँ से भी लोन के लिए एप्लाई कर सकते हैं| पर शायद वहाँ पर आपको अच्छी ब्याज दर न मिले| इसलिए कुछ भी फैसला करने से पहले बाहर भी ब्याज दरों के बारें में पता करें|
ध्यान दें कार लोन के नियम, ब्याज दर और पात्रता (eligibility) हर बैंक या कंपनी में अलग हो सकती है|

Car Loan पर इंटरेस्ट रेट (ब्याज दर) कितना होता है? सबसे सस्ता कार लोन कहाँ मिलता है?

कार लोन में आपको फिक्स्ड (Fixed) और फ्लोटिंग (Floating), दोनों तरह की ब्याज दर मिल सकती है|
Car Loan की ब्याज दर बढती घटती रहती है|
ब्याज दर आपकी कार के मॉडल/segment, CIBIL स्कोर और लोन अवधि पर निर्भर कर सकती है|
आईसीआईसीआई बैंक के कार लोन की ब्याज दर आप ICICI की वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं|
अभी (फरवरी 2018) SBI कार लोन की ब्याज दर 8.70% से 9.20% के बाच चल रही है|
अब यह कहना मुश्किल है, की आपको सबसे सस्ता लोन कहाँ मिलेगा| आप 2-3 बैंक में जा कर पता कर सकते हैं|
परन्तु केवल ब्याज दर पर ही ध्यान न देंलोन के कुछ अन्य शुल्क भी होते हैं जैसे की प्रोसेसिंग फीस इत्यादि|
साथ की अगर आप समय से पहले लोन (loan pre-payment) का भुगतान करते हैं, तो आपको pre-payment penalty भी देनी पड़ सकती है| ज़ाहिर है, जहाँ pre-payment पेनल्टी कम है, वह विकल्प आपके लिए बेहतर है|


इन शुल्कों पर भी ध्यान दें|
नयी कार के लोन की ब्याज दर पुरानी कार खरीदने के लिए लोन से कम होगी|

Car Loan की अवधि कितनी होती है?

कार लोन की अवधि 3 से 5 वर्ष तक की होती है| कुछ बैंक आपको 7 वर्ष की अवधि के लोन भी दे सकते हैं|
अब क्योंकि लोन की अवधि कम होती है, EMI की राशि ज्यादा होगी|
अगर आप जानना चाहते हैं की आपके लोन की EMI कैसे कैलकुलेट होती है, तो इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं|
आप कार लोन कैलकुलेटर पर भी अपनी EMI चेक कर सकते हैं|

क्या मैं Car Loan चुकाने से पहले कार बेच सकता हूँ?

जी नहीं, अगर आप कार बेचना चाहते हैं, तो पहले आपको कार लोन चुकाना होगा|
कार लोन लेते समय कार बैंक के नाम पर hypothecate करी जाती है|

क्या पुरानी कार खरीदने ले लिए भी लोन मिलता है?

जी हाँ, जैसे की ऊपर चर्चा करी है, आप एक पुरानी कार खरीदने के लिए भी लोन ले सकते हैं|
SBI Used Car Loan में आपको 5 साल पुरानी गाड़ी तक के लिए लोन मिलता है| अधिक जानकारी के लिए आप इस लिंकपर जा सकते हैं|
पर ब्याज दर एक नयी कार के लोन से ज्यादा होगी|

Car Loan के भुगतान पर क्या टैक्स बेनिफिट मिलते हैं?

नहीं, कार लोन के भुगतान पर कोई टैक्स बेनिफिट नहीं मिलता|

Car Loan लेने के लिए क्या दस्तावेज़ चाहिए होते हैं?

दस्तावेजों की लिस्ट हर बैंक में अलग हो सकती है|
आपको कुछ फोटो, पहचान का प्रमाण (Identity Proof), पते के प्रमाण (address proof) और आय का प्रमाण (income proof) इत्यादि देने होंगे|

Car Loan लेते समय किन बातों का रखें ख्याल?

#1 पहले  कार के मूल्य पर बातचीत (negotiate) करें, उसके बाद लोन पर
लोन पर खरीद-फरोख्त करके आप अपनी EMI कुछ कम कर सकते हैं|
परन्तु कार के मूल्य पर negotiate करना न भूलें|
कार डीलर के पास काफी मार्जिन होता है| आप थोडा दबाव डाल कर बेहतर डील पा सकते हैं|
ध्यान दें यहाँ पर बचत आपकी EMI के बचत से काफी ज्यादा हो सकती है|
कम से कम 4-5 डीलरों के पास जाएं और आपके लिए सबसे अच्छा सौदा करने का प्रयास करें।
जल्दबाजी न करें| डीलर से जा कर मिलें और discount मांगे| शायद वह आपको हाथ के हाथ डिस्काउंट न दे|
इंतज़ार करें| हो सकता है, की कुछ दिन बाद वही डीलर आपको बेहतर ऑफर दे| आखिर उसको भी कार बेचनी है|
यदि आपको छूठ नहीं मिल रही है, तो अधिक से अधिक सामान (car accessories) या सेवाओं को मुफ्त में लाने की कोशिश करें ।
उदाहरण के लिए, आप मुफ्त सीट कवर या म्यूजिक सिस्टम की मांग कर सकते हैं| टेफ़लोन कोटिंग, एंटी-रस्ट पेंटिंग (Anti-rust painting) और engine lamination मुफ्त में करने को कह सकते हैं।
कार डीलर से मोटर बीमा (Car insurance) नहीं खरीदें। वहां पर इंश्योरेंस काफी महंगा मिलता है| ऑनलाइन खरीदें| काफी पैसा बचेगा| शुरू में डीलर इस बात का विरोध करेंगे, पर अगर आप अड़े रहे तो मान जायेंगे|

#2 कार निर्माताओं द्वारा लोन की पेशकश (Loan Schemes from Car Manufacturers)

कई बार कार निर्माता (Maruti, Hyundai, Ford, Volkswagen) अपनी कार फाइनेंस कंपनी शुरू करके आपको लोन के ऑफर देते हैं|
कई बार ऐसे ऑफर काफी अच्छे भी होते हैं|
अब सोचने वाली बात है की अगर कोई कार निर्माता आपको सस्ता लोन दिलवा रहा है, तो कहीं न कहीं वह अपनी सेल बढ़ाना चाहता है इस ऑफर के ज़रिये|
आपके लिए तो अच्छा है|
पर एक बात है| आप लोन ऑफर के चक्कर में पढ़ कर कार के मूल्य पर negotiate करना न भूलें|
ध्यान दें अगर कार का मूल्य कम होगा, तो आपके लोन की EMI अपने आप कम हो जायेगी|
पहले कार के मूल्य पर बातचीत करें, उसके बाद लोन के शर्तों पर|
अगर आपको लोन की अच्छी डील नहीं मिलती, तो दूसरे बैंक या कार फाइनेंस कंपनी से बात करें|

#3 अन्य शुल्कों पर भी बातचीत करें

कार लोन छोटी अवधि (Shorter loan tenure) के लोन होते हैं|
ऐसे लोन में ऊंचे ब्याज दर का असर कम हो सकता है| जैसे की आप 5 लाख का कार लोन 5 वर्ष के लिए लेते हैं|
10% की ब्याज दर पर EMI होगी 10,623 रुपये|
11% की ब्याज दर पर EMI होगी 10,871 रुपये|
अंतर हुआ 247 रुपये प्रति माह| 10% के लोन पर आपकी बचत हुई 247 X 60 = 14,861 रुपये की
पर मान लिए 10% वाले लोन में 2.5% की प्रोसेसिंग फीस है| 11% वाले लोन में कोई भी प्रोसेसिंग फीस नहीं है|
तो आपको 10% वाले लोन में 5 लाख  X 2.5% = 12,500 रुपये की प्रोसेसिंग फीस देनी होगी| इस फीस पर 18% GST भी देना होगा| तो कुल मिला कर आपका खर्चा हुआ 14,750 रुपये|
तो आपकी ब्याज दर तो कम है, पर बैंक ने दूसरे तरीके से सब वसूल लिया|
इसीलिए केवल ब्याज दर पर ही ध्यान न दें| अन्य शुल्कों पर भी ध्यान दें|
आप प्रोसेसिंग फीस जैसे शुल्कों पर negotiate पर कर सकते हैं|

#4 कम अवधि का लोन चुनें

जितनी कम अवधि होगी, आपको उतना कम की ब्याज का भुगतान करना होगा|
पर कम अवधि की कारण आपकी EMI भी ज्यादा होगी|
अगर आप ज्यादा EMI का भुगतान कर सकते हैं, तो छोटी अवधि चुनें|
अगर ज्यादा EMI का भुगतान नहीं कर सकते, तो लम्बी अवधि चुन सकते हैं|

#5 Pre-Payment penalty कम हो

अब क्योंकि कार लोन की राशि बहुत अधिक नहीं है, ऐसा हो सकता है कि आप ऋण का पूर्व  (pre-payment) करना चाहें और ब्याज लागत को बचा सकते हैं।
पर आपको ऐसा करने से रोकने के लिए बैंक pre-payment पेनल्टी का प्रावधान रखते हैं| ऐसे में आपको पूर्व भुगतान करने पर कुछ जुर्माना देना होता है| जैसे बैंक आपसे पूर्व भुगतान राशि का 5% जुर्माने के तौर पर ले सकता है|


तो अगर आप पूर्व भुगतान करने की सोच रहे है, तो ऐसे लोन विकल्प को चुनें जहां pre-payment पेनल्टी न हो या फिर कम हो|

कार लेते समय इस लिस्ट का ध्यान रखें

  1. कार की कीमत कम करने की कोशिश करें (Negotiate on price of car)
  2. मुफ्त में सामान या सेवाएं लेने की कोशिश करें (Try to get freebies)
  3. ब्याज दर कम करने की कोशिश करें (Negotiate/find Lower Interest Rate)
  4. प्रोसेसिंग फीस, pre-payment charges इत्यादि कम करने की कोशिश करें (Find loans with low processing fee/pre-payment charges)
Previous
Next Post »

1 comments:

Write comments