SBI में आप कितने तरह के अकाउंट खोल सकते हैं?

SBI देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक अपने ग्राहकों के लिए पर्सनल बैंकिंग पोर्टफोलियो के तहत कई तरह की सुविधाएं देता है। कस्‍टमर की जरुरत के हिसाब से बैंक बचत खाते से लेकर छोट अकाउंट तक की सुविधा प्रदान करता है। चाहे खुद के लिए हो या बच्‍चों की शादी या पढ़ाई के लिए आप एसबीआई के विभिन्‍न खाते खोल कर उस हिसाब से बचत कर सकते हैं


SBI में आप कितने तरह के अकाउंट खोल सकते हैं?
SBI में आप कितने तरह के अकाउंट खोल सकते हैं? 


SBI सेविंग बैंक अकाउंट: एसबीआई बचत बैंक खाता एक मूल खाता है जो ग्राहक के पैसे की सुरक्षा करता है। एसबीआई 1 करोड़ रुपये तक की बचत जमा राशि पर 3.5 प्रतिशत की ब्याज दर चुकाता है। 1 करोड़ रुपये रुपये से ऊपर जमा राशि पर प्रति वर्ष 4 प्रतिशत ब्याज दरों का भुगतान करता है।


SBI सेविंग प्‍लस अकाउंट: एसबीआई के सेविंग्स प्लस अकाउंट मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम (एमओडीएस) से जुड़ा एक बचत बैंक खाता है, जिसमें बचत बैंक खाते से थ्रेसहोल्ड सीमा से ऊपर अधिशेष निधि स्वचालित रूप से रुपये के गुणकों में खोले गए सावधि जमा में स्थानांतरित की जाती है। एसबीआई के बचत प्लस खाते को बनाए रखने के लिए मासिक औसत शेषराशि (एमएबी) की आवश्‍यकता होती है।

SBI करेंट अकाउंट: एसबीआई फर्मों, कंपनियों, सार्वजनिक उद्यमों, व्यापारियों इत्यादि जैसे उपयोगकर्ताओं के लिए करेंट बैंक खाता प्रदान करता है। एसबीआई के मुताबिक, करेंट बैंक अकाउंट डिमांड डिपॉजिट का एक रूप है जहां खाते में शेष राशि के आधार पर निकासी की कई बार अनुमति दी जाती है या ऊपर तक एक विशेष सहमत राशि। एक चालू खाता आमतौर पर दिन-प्रतिदिन लेनदेन के प्रबंधन के लिए सबसे उपयुक्त है। व्यक्तिगत बैंकिंग शाखा के लिए मासिक औसत शेष राशि (एमएबी) की आवश्यकता 10,000 रुपये है जबकि गैर-ग्रामीण के लिए यह 5,000 रुपये है। ग्रामीण शाखा के लिए, यह 2,500 रुपये है।

SBI स्‍मॉल अकाउंट: जिन ग्राहकों के पास केवाईसी दस्‍तावेज नहीं होते हैं उनके लिए सबीआई स्‍मॉल अकाउंट (छोटे खातों) की पेशकश करता है। एसबीआई का छोटा खाता 18 साल से ऊपर के किसी भी व्यक्ति द्वारा खोला जा सकता है। केवाईसी दस्तावेजों को जमा करने पर एसबीआई के छोटे खाते को नियमित बचत खाते में परिवर्तित किया जा सकता है।

SBI बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट (BSBD) खाता: SBI का मूल बचत बैंक जमा (बीएसबीडी) खाता शून्य बैलेंस बचत खातों का एक प्रकार है और ग्राहकों को किसी विशेष न्यूनतम औसत शेषराशि को बनाए रखने की आवश्यकता नहीं होती है। यह खाता किसी भी व्यक्ति द्वारा खोला जा सकता है बशर्ते उसके पास वैध केवाईसी दस्तावेज हों। एसबीआई के बीएसबीडी खाते का मुख्य रूप से समाज के गरीब वर्गों के लिए है ताकि उन्हें शुल्क या फीस के बिना किसी भी बोझ के बचत को प्रोत्साहित किया जा सके। एसबीआई वर्तमान में बचत बैंक खातों में 1 करोड़ रुपये प्रति वर्ष जमा करने पर 3.5 प्रतिशत की ब्याज दर प्रदान करता है।


Previous
Next Post »