Jeevan Saral Lic Policy Details In Hindi - Shiko Jano

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

21 Feb 2019

Jeevan Saral Lic Policy Details In Hindi

एलआईसी जीवन सरल योजना (प्लान नं. 165)






एलआईसी जीवन सरल


एलआईसी की जीवन सरल योजना एक एंडोमेंट योजना है, जिसमें बहुत सारी प्लेक्सिबिलिटी होती है जो आमतौर पर आपको सिर्फ यूनिट लिंक्ड योजनाओं में ही मिलती है। इसलिए इसे स्पेशल योजनाओं के तहत रखा गया है। यह बीमित रकम के डबल डेथ बेनिफिट + प्रीमियम रिटर्न के साथ नॉन यूनिट लिंक्ड बीमा योजना है।

Image result for jeevan saral lic policy details in hindi
 
इस योजना के तहत, पालिसीधारक द्वारा ही प्रीमियम भुगतान की रकम तय की जाती है, और तय की गई मासिक प्रीमियम का 250 गुणा मूल बीमित रकम होती है। अगर पालिसी धारक पूरे पालिसी अवधि तक जीवित रहता है, तो उसे परिपक्वता पर मिलनेवाले बीमित रकम के साथ लॉयल्टी एडिसन्स का भुगतान किया जाता है। मैचुरिटी(परिपक्वता) पर मिलनेवाला बीमित रकम, पालिसी धारक की प्रवेश आयु तथा उसके द्वारा प्रारंभ में चुने गए पालिसी अवधि पर निर्भर करती है।
 
अगर पालिसी धारक की मृत्यु, पालिसी अवधि के दौरान होती है, तो उसके नॉमिनी को बीमित रकम + भरा हुआ प्रीमियम(अतिरिकि प्रेमियम, राइडर प्रीमियम तथा पहले वर्ष के प्रीमियम को छोड़कर) + लॉयल्टी एडिसन्स (अगर कुछ है तो) का भुगतान किया जाता है।

इस प्रकार इस योजना के तहत मिलनेवाला मृत्यु लाभ, प्रवेश आयु तथ पालिसी अवधि पर निर्भर ना होकर सिर्फ चुने हुए प्रीमियम पर निर्भर होता है। लेकिन मैचुरिटी लाभ, प्रवेश आयु तथा पालिसी अवधि के अनुसार अलग होता है।
 

  • आम एंडोमेंट योजना से अलग इसमें बहुत सारी प्लेक्सिबिलिटी होने के कारण इसे स्पेशल योजनाओं के तहत रखा गया है।
  • पालिसी धारक अपने प्रीमियम का चुनाव स्वयं ही कर सकता है और बीमित रकम का निर्धारण इसीसे होता है।
  • इस योजना के नियमों और शर्तों के आधार पर आप चौथे पालिसी वर्ष से सरेंडर कर सकते हैं।
  • पालिसी धारक अपने हिसाब से प्रीमियम भुगतान के लिए फ्लेक्सिबल अवधि का चुनाव कर सकता है।





एलआईसी जीवन सरल योजना की प्रमुख विशेषताएँ:

 
  • प्रीमियम, पालिसीधारक द्वारा चुना जाता है और बीमित रकम, चुने हुए प्रीमियम का 250 गुणा होता है।
  • मृत्यु लाभ के रूप में उसके नॉमिनी को बीमित रकम + भरा हुआ प्रीमियम(अतिरिकि प्रेमियम, राइडर प्रीमियम तथा पहले वर्ष के प्रीमियम को छोड़कर) + लॉयल्टी एडिसन्स (अगर कुछ है तो) का भुगतान किया जाता है।
  • मैचुरिटी लाभ के रूप में पालिसीधारक को मैचुरिटी पर मिलनेवाला बीमित रकम + लॉयल्टी एडिसन्स(अगर कुछ है तो) का भुगतान किया जाता है।
  • पालिसी में तीन वर्ष तक बने रहने के बाद उसे पार्शियल सरेंडर किया जा सकता है।
  • तीन वर्ष के प्रीमियम भुगतान के बाद एक वर्ष का अतिरिक्त जोखिम कवर।
  • टर्म राइडर तथा दुर्घटना मृत्यु और दिव्यांगता लाभ के रूप में वैकल्पिक उच्च कवर उपलब्ध।
  • आप अधिकतम पालिसी अवधि का चुनाव कर सकते हैं और 5 वर्ष पालिसी में बने रहने के बाद कभी भी बिना किसी अतिरिक्त सरेंडर शुल्क के पालिसी सरेंडर कर सकते हैं।
  • पालिसी में 10 वर्ष तक बने रहने के बाद आपको लॉयल्टी एडिसन्स का लाभ मिलता है।




No comments:

Post a Comment

Post Top Ad